फर्जी चौकी इंचार्ज बनकर महिला ने लूटे तीन लाख के गहने !!!!

फर्जी चौकी इंचार्ज बनकर महिला ने लूटे तीन लाख के गहने !!!!

गोरखपुर के शाहपुर क्षेत्र के विशाल शामियाना हाउस गीतावाटिक रोड पर शुक्रवार की शाम को एक स्कूल मालिक की पत्नी से पुलिस बन कर तीन जालसाजों ने तीन लाख रुपये के कीमत के गहने लूट लिए। सूचना के बाद पहुंची पुलिस जांच में जुट गई है। घटनास्थल के पास सीसी कैमरे में जालसाजों की करतूत कैद हो गई है। फुटेज के आधार पर पुलिस उनकी तलाश कर रही है।गीता वाटिका मंदिर के पास रहने वाले इंटरनेशनल दिल्ली पब्लिक स्कूल के मालिक महेन्द्र अग्रवाल की पत्नी 65 वर्षीय सरिता अग्रवाल शुक्रवार की शाम को करीब चार बजे सब्जी लेने विशाल शामियाना हाउस की तरफ गई थीं। सब्जी की दुकान बंद होने पर पैदल घर लौट रहीं थीं। रास्ते में उन्हें तीन युवक मिले। पीछे से आए इन युवकों ने कहा कि इंस्पेक्टर शाहपुर आप को बुला रहे हैं। सरिता देवी ने वजह पूछी तो एक ने खुद का परिचय चौकी प्रभारी के रूप में देते हुए कहा कि त्योहार का समय चल रहा है। उचक्के सक्रिय हैं, ऐसे में आप इतने गहने पहन कर निकली हैं। आपकी सुरक्षा में मुझे लगाया गया है।बुजुर्ग महिला को अपने झांसे में लेते हुए उसने कहा कि आप अपने सभी गहने उतार कर हमें दीजिए, हम आप के घर पहुंचा देंगे। सरिता अग्रवाल ने कहा कि मेरा घर पास ही में है, मैं चली जाउंगी। इसके बाद उसने अर्दब में लेने की कोशिश की और कड़े लहजे में कहा, आप को खिलवाड़ लग रहा है। मेरी नौकरी दांव पर लगी है। उसने पास खड़े युवक से कहा कि तुम क्या देख रहे हो ? जल्दी से अपनी माला व अंगूठी उतार कर दो? उसने माला व अंगूठी उतार कर उसे सौंप दिया। यह सब देख महिला उनके झांसे में आ गई। उन्होंने सोने की चेन, सोने की चार चूड़ियां, दो अंगूठी, कनौटी सहित कान का टप्स निकाल कर अपने पर्स में रखा लिया और पर्स उनको दे दिया। घर तक पहुंचाने की बात कहते हुए कुछ दूर तक गए फिर सोने के गहने और दो हजार रुपये पर्स से निकालने के बाद उसमें नकली गहने रखकर लौटा दिए।सरिता को जब जालसाजी की जानकारी हुई तो वह रोते हुए घर पहुंची। उनके पति ने एसएसपी को फोन कर घटना की जानकारी दी। इसके बाद एसपी सिटी विनय सिंह, सीओ गोरखनाथ समीक्षा यादव व इंस्पेक्टर शाहपुर घनश्याम तिवारी मौके पर पहुंच गए। पीड़िता से घटना की जानकारी ली। घटनास्थल के पास लगे सीसी फुटेज को चेक किया जिसमें आरोपियों की करतूत कैद मिली। फुटेज के सहारे पुलिस जांच में जुट गई है। इंस्पेक्टर शाहपुर घनश्याम तिवारी ने बताया कि सीसी फुटेज में तीनों जालसाज कैद हो गए हैं। फुटेज देखकर उनके क्रिया कलाप व हावभाव से वे पुलिसवाले लग रहे हैं। उन्होंने कहा कि या तो वे बर्खास्त हैं या फिर वर्तमान में उनकी कहीं तैनाती है। जल्द ही घटना का खुलासा किया जाएगा।

धीरेन्द्र सिंह

(satyamevjayatelive.com)


Share it
Top
To Top